Wednesday, 12 July 2017

Mutual Fund Kya hai Hindi Me

Mutual funds ki jankari hindi me

यह शब्द आपने कई बार सुना होगा लेकिन क्या आप जानते हैं कि म्यूचुअल फंड क्या है ओर ये क्या काम करता है, अगर आप म्यूचुअल फंड के बारे में बिलकुल भी नही जानते ओर आप इसके बारे में जानना चाहते है तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है।

म्यूचुअल फंड क्या है?

एक म्यूचुअल फंड इनवेस्टर्स (निवेशको) से पैसा इकट्ठा करता है और उनकी ओर से पैसा इनवेस्ट करता है। यह पैसे को मेनेज करने लिए एक छोटा शुल्क लगाता है।

बहुत संख्या मे इनवेस्टर्स द्वारा जमा किए गए पैसो से ऐक म्यूचुअल फंड बनता है। इन पैसो को ऐक फंड मे जमा किया जाता है। फंड मे इनवेस्ट किये गये पैसो को बराबर हिस्से मे बांट दिया जाता है इसे ऐक इकाई या युनीट कहा जाता है।

उदाहरण के लिए अगर कुछ इनवेस्टर्स मिल कर ऐक जमीन के टुकडे पर इनवेस्टमेन्ट करते हैं, ओर जमीन की कीमत 50000 है, अब इनवेस्टर्स द्वारा जमा किए गए पैसो के फंड को युनीट्स मे बांटना होगा। अब फंड को 5र के युनीट्स के हिसाब से बांटने से 10000 युनीट्स बनेगे। इनवेस्टर अपनी इनवेस्टमेन्ट क्षमता के अनुसार जितने चाहे उतने युनीट्स खरीद सकता है। अगर इस फंड युनीट्स के हिसाब से किसी भी इनवेस्टर के पास केवल 500 रु है तो वो इनवेस्टर 100 युनीट्स खरीद सकता है।

अब मान लिजिए की इस जमीन की कीमत ऐक महीने के बाद 70000 हो गई मतलब अब आपके युनीट्स की कीमत भी बढ गई है इनवेस्टमेन्ट के हिसाब से युनीट्स की कीमत निकाल ने से इनवेस्टर्स का 5र वाले युनीट्स की कीमत 7र होती है। इनवेस्टर के 100 युनीट्स की कीमत अब 700र हो गई है। अगर जमीन के टुकडे की कीमत घटती है तो इनवेस्टर्स के युनीट्स कि कीमत भी घटेगी।

म्युचुअल फंड रेग्युलर इनवेस्टर्स के लिए आदर्श इनवेस्टमेन्ट व्हीकल हैं, जो इनवेस्टमेन्ट के बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं। इनवेस्टर अपने वित्तीय लक्ष्य के आधार पर एक म्यूचुअल फंड योजना चुन सकते हैं, और लक्ष्य हासिल करने के लिए इनवेस्टमेन्ट करना शुरू कर सकते हैं।

यदि आप एक म्यूचुअल फंड खरीदने का फैसला करते हैं, तो आपके पास एक मनी मेनेजर होगा जो आपके लिए इनवेस्टमेन्ट का काम करेगा। वहां से, मनी मेनेजर आपकी ओर से किसी प्रकार के वित्तीय लाभ का निर्माण करने के लिए विभिन्न प्रतिभूतियों में पैसो का इनवेस्टमेन्ट करेगा। म्युचुअल फंड हमारे लिए इनवेस्ट करने का ऐक बडा विकल्प है जो शेयर बाजार में नए हैं, आप एक म्यूचुअल फंड को देख सकते हैं, जिसमें एक टोकरी होती है, जिसमें विभिन्न प्रकार के स्टॉक ऑप्शंस और बॉन्ड होते हैं जो आपकी ओर से पेशेवर द्वारा प्रबंधित होते हैं।

अगर आप म्यूचुअल फंड मे इनवेस्ट करना चाहते हैं तो ओनलाइन ओर ओफलाइन दोनो तरीको से कर सकते हैं। आप या तो म्यूचुअल फंड से सीधे इनवेस्टमेन्ट कर सकते हैं या एक म्यूचुअल फंड सलाहकार की सेवाएं ले सकते हैं। यदि आप सीधे इनवेस्टमेन्ट कर रहे हैं, तो आप म्यूचुअल फंड योजना की सीधे योजना में इनवेस्ट करेंगे। यदि आप एक सलाहकार या मध्यस्थ के माध्यम से निवेश कर रहे हैं, तो आप इस योजना के नियमित योजना में इनवेस्ट करेंगे।

यदि आप सीधे इनवेस्ट करना चाहते हैं, तो आपको प्रासंगिक दस्तावेज़ों के साथ म्यूचुअल फंड की वेबसाइट या इसकी अधिकृत शाखाओं पर करना होगा। सीधे योजना में इनवेस्टमेन्ट का लाभ यह है कि आप कमिशन पर बचत करते हैं और इनवेस्ट किए गए पैसा लंबी अवधि में काफी लाभ उठा सकते हैं। इस पद्धति का सबसे बड़ा दोष यह है कि आपको औपचारिकताएं पूरी करनी होंगी, रिसर्च करना होगा, अपने इनवेस्ट की निगरानी करनी होगी, सब कुछ अपने आप से करना होगा।

इस आर्टिकल मे हमने बताया कि म्यूचुअल फंड क्या होता है, आगे इसके बारे मे ओर ज्यादा जानकारी के साथ आर्टिकल शेयर किया जाएगा।

Read this: 10+ सबसे सफल ऑनलाइन जोब्स
Nitesh kumar
Nitesh kumar

Hello Friends! My Self Nitesh Kumar, From India Gujarat. I Am Passionate Blogger. I Am Author Of SolutionSoul Blog. In This Blog I'll Give U Information About New Technology, Various Technical Tricks, Mobile And Computer Tricks, Knowledge And News Etc.

No comments:

Post a Comment